POPULAR HINDI BLOGS SIGNUP LOGIN

Blog: VIJAY KUMAR SAPPATTI

Blogger: Vijay Kumar Sharma
भोर भई मनुज अब तो तू उठ जा,रवि ने किया दूर ,जग का दुःख भरा अन्धकार ;किरणों ने बिछाया जाल ,स्वर्णिम और मधुरअश्व खींच रहें है रविरथ को अपनी मंजिल की ओर ;तू भी हे मानव , जीवन रूपी रथ का सार्थ बन जा !भोर भई मनुज अब तो तू उठ जा !!!सुंदर सुबह का स्वागत ,पक्षिगण ये कर रहेरही कोयल कूक बागो... Read more
clicks 410 View   Vote 0 Like   4:12am 1 Jan 2013
Blogger: Vijay Kumar Sharma
मेरे प्रिय दोस्तों ;आप सभी को भारतीय स्वतंत्रता दिवस की ढेर सारी शुभकामनाये .आईये ;हम सब मिलकर देश को बेहतर बनाने की एक सच्ची कोशिश करे .प्रणामविजय    Countrymen, let’s go to work having this at the back of our minds; ask what you have done for your country and not what your country has done for you.- John.F. Kennedy... Read more
clicks 464 View   Vote 0 Like   3:22am 15 Aug 2012
Blogger: Vijay Kumar Sharma
यार , कोई इस बंदे को जानता है क्या.... पूछ इसलिए रहा हूँ .. कि सिर्फ चंद बन्दों को ही पता है कि आज इनकी ११५ वी जयंती है .. ..और फेसबुक में बहुत कम चर्चा है. वैसे भी हमें क्या करना यार , पता नहीं इन देशभक्तों को भी क्या सनक थी .देश को आज़ाद कराने की , क्या मिला बोलो तो .... Read more
clicks 425 View   Vote 0 Like   9:32am 11 Jun 2012
Blogger: Vijay Kumar Sharma
किसी की मुस्कराहटों पे हो निसार ,किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार ;किसी के वास्ते तेरे दिल में हो प्यार ;जीना इसी का नाम है . .....!... Read more
clicks 451 View   Vote 0 Like   1:09am 29 Apr 2012
Blogger: Vijay Kumar Sharma
दोस्तों ,ये एक दिल में बसने वाला philosophical song है , और ये गाना सभी के साथ जोड़ा जा सकता है . किशोर की धनक भरी आवाज का जादू . आईये ये गाना पूरा सुने और दिल में कुछ कसमे खाए के बेहतर जीवन जीने के लिए .आपकाविजय ... Read more
clicks 467 View   Vote 0 Like   1:58pm 13 Apr 2012
Blogger: Vijay Kumar Sharma
रजनीगन्धा फूल तुम्हारे, महके यूं ही जीवन मेंयूं ही महके प्रीत पीया की मेरे अनुरागी मन मेंआधिकार ये जब से साजन का हर धड़कन पर माना मैंनेमै जब से उन के साथ बंधी, ये भेद तभी जाना मैंनेकितना सुख हैं बंधन मेंहर पल मेरी इन आखों में बस रहते हैं सपने उन केमन कहता हैं मैं रंगों की, ... Read more
clicks 431 View   Vote 0 Like   6:03am 12 Apr 2012
Blogger: Vijay Kumar Sharma
एक अकेला इस शहर में, रात में और दोपहर में आब\-ओ\-दाना ढूँढता है, आशियाना ढूँढता है दिन खाली खाली बर्तन है, और रात है जैसे अंधा कुँवा इन सूनी अन्धेरी आँखों में, आँसू की जगह आता हैं धुँ_आ जीने की वजह तो कोई नहीं, मरने का बहाना ढूँढता है एक अकेला इस शेहर में इन उम्र से लम्बी सड़को... Read more
clicks 463 View   Vote 0 Like   7:51am 11 Apr 2012
Blogger: Vijay Kumar Sharma
चैन एक पल नहीं ,और कोई हल नहीं ...सयोनी.......!!!!... Read more
clicks 364 View   Vote 0 Like   5:41am 10 Apr 2012
Blogger: Vijay Kumar Sharma
बेताब दिल की तमन्ना यही है ..तुम्हे चाहेंगे ....तुम्हे अपना बनाएंगे ....बस यही तमन्ना थी .....अक्सर तमन्नाये बस तमन्नाये ही रह जाती है ...... Read more
clicks 394 View   Vote 0 Like   5:15am 6 Apr 2012
Blogger: Vijay Kumar Sharma
या दिल की सुनो दुनियावालो ; या मुझको अभी चुप रहने दो ...मैं गम को खुशी कैसे कह दूं . जो कहते है , उनको कहने दो... !!!मुझे ये गीत बहुत बहुत पसदं है , और अक्सर अकेले में खूब गाता हूँ . और अक्सर ही गाने के अंत में सिर्फ एक खामोशी रहती है और मेरी भीगी हुई आँखों में कुछ गमी के लम्हे !!!!... Read more
clicks 406 View   Vote 0 Like   8:09am 5 Apr 2012
Blogger: Vijay Kumar Sharma
आज शहीद दिवस है। आज के दिन शहीदे आजम भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव ने हँसते-हँसते भारत की आजादी के लिए 23 मार्च 1931 को 7:23 बजे सायंकाल फाँसी का फंदा चूमा था।उन सभी क्रांतिकारियों को हमारा सलाम . ये अलग बात है कि ये देश उनके सपनो का भारत नहीं सिद्ध हुआ , लेकिन , इस बात से उनका बलिदान ... Read more
clicks 404 View   Vote 0 Like   3:09pm 23 Mar 2012
Blogger: Vijay Kumar Sharma
दोस्तों , आप सभी को २६ जनवरी , हमारे प्रजातंत्र दिवस की ढेर सारी शुभकामनाये . ईश्वर करे कि , हमारा देश और हमारे देश के नागरिक हमेशा खुशहाल रहे . जय हिंद आपका विजय... Read more
clicks 410 View   Vote 0 Like   12:47am 26 Jan 2012
Blogger: Vijay Kumar Sharma
दोस्तों , आज मेरी माँ की बरसी है , उन्हें इस संसार से गए हुए २४ साल हो गए है ...लेकिन मैंने उन्हें हमेशा अपने पास ही पाया . मैं जो कुछ भी हूँ , उनकी वजह से हूँ . मुझमे मौजूद हर अच्छाई , उनकी ही है . मैं भी उनका ही हूँ . आज भी भीड़ भरी जिंदगी में उनके बिना अपना अकेलापन मन को बहुत सीलता ... Read more
clicks 374 View   Vote 0 Like   7:10am 13 Jan 2012
Blogger: Vijay Kumar Sharma
My Dear Souls;Today I would like to suggest few tips on how to bury the past and move on:Understand that nothing is permanent in life.Things, people and relationships do change, and we should be ready to accept this fact.It takes huge time involvement and investment to understand people, so don’t rush into a serious relationship while the scars of the first one are still fresh Don’t spoil or throw away your own happiness and joy in life, because of the mistakes, faults and imperfections in others.Relationships collapse due to expectations and very often less realistic ones. so if you want to have a lasting relationship, have minimum expectationsDon’t remai... Read more
clicks 344 View   Vote 0 Like   6:06am 10 Jan 2012
Blogger: Vijay Kumar Sharma
Today is my birthday and birthdays are humble reminder to me that GOD exists and sometimes GOD exists in the form of mother. Today I miss my mother as she is no more to celebrate this very moment of existence of human soul. I miss her so much as she carried me in her womb for nine months. She felt sick for months with nausea, then she watched her feet swell & her skin stretch & tear; she struggled to climb stairs, she got breathless quick; she suffered many sleepless nights. She then went through excruciating pain to bring me into this world. Then, she became my nurse, my chef, my maid, my chauffeur, my biggest fan, my teacher, & my best friend. She's struggled for me, cried ... Read more
clicks 385 View   Vote 0 Like   11:16am 17 Nov 2011
Blogger: Vijay Kumar Sharma
 दोस्तों ;आज मेरा जन्मदिन है .......अब उम्र के जिस पढाव पर मैं हूँ, वहां ज़िन्दगी बहुत शांत हो जाती है , ज़िन्दगी को देखने का नजरिया भी बहुत  बड़ा हो जाता है . बस बीता हुआ पिछला साल कई मायनों में ज्यादा खुशदायक नहीं था . लेकिन , हमेशा की तरह एक नयी उम्मीद के साथ ,आने वाले समय की प्... Read more
clicks 339 View   Vote 0 Like   6:37am 17 Nov 2011
clicks 357 View   Vote 0 Like   10:51am 14 Feb 2011
Blogger: Vijay Kumar Sharma
मेरी अम्मा....ये सही है की , माँ ही ईश्वर का सच्चा स्वरुप होती है . आज ही के दिन , करीब २३ साल पहले ;माँ मुझे छोड़कर चली  गयी थी .लेकिन मैंने हमेशा ही उन्हें अपने करीब पाया , अपने साथ पाया . उनकी दी हुई नम्रता की शिक्षा ,उनका आशीर्वाद और जीवन को जीने की कला ,सबकुछ आज भी मेरे साथ है ... Read more
clicks 337 View   Vote 0 Like   3:37am 13 Jan 2011
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Week
  • Month
  • Year
  You can create your ID by clicking on "Sign Up" (written at the top right side of the page) & login into bloggiri. After login, you will be redirected to "My Profile" page, here you are required to click on "Submit Blog". Please fill your blog details & send us. Kindly note that our team wi...
  You will be glad to know that after thumping success of hamarivani.com, which is a unique rendezvous of Hindi bloggers and readers spread all over world, we are feeling jubilant to introduce Bloggiri.com. At Bloggiri, your blog will get a huge horiz...
More...
Total Blogs (910) Totl Posts (44919)