Bloggiri.com

VIJAY KUMAR SAPPATTI

Returns to All blogs
भोर भई मनुज अब तो तू उठ जा,रवि ने किया दूर ,जग का दुःख भरा अन्धकार ;किरणों ने बिछाया जाल ,स्वर्णिम और मधुरअश्व खींच रहें है रविरथ को अपनी मंजिल की ओर ;तू भी हे मानव , जीवन रूपी रथ का सार्थ बन जा !भोर भई मनुज अब तो तू उठ जा !!!सुंदर सुबह का स्वागत ,पक्षिगण ये कर रहेरही कोयल कूक बागो...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  January 1, 2013, 9:42 am
मेरे प्रिय दोस्तों ;आप सभी को भारतीय स्वतंत्रता दिवस की ढेर सारी शुभकामनाये .आईये ;हम सब मिलकर देश को बेहतर बनाने की एक सच्ची कोशिश करे .प्रणामविजय    Countrymen, let’s go to work having this at the back of our minds; ask what you have done for your country and not what your country has done for you.- John.F. Kennedy...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  August 15, 2012, 8:52 am
यार , कोई इस बंदे को जानता है क्या.... पूछ इसलिए रहा हूँ .. कि सिर्फ चंद बन्दों को ही पता है कि आज इनकी ११५ वी जयंती है .. ..और फेसबुक में बहुत कम चर्चा है. वैसे भी हमें क्या करना यार , पता नहीं इन देशभक्तों को भी क्या सनक थी .देश को आज़ाद कराने की , क्या मिला बोलो तो ....
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  June 11, 2012, 3:02 pm
...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  May 26, 2012, 8:04 am
किसी की मुस्कराहटों पे हो निसार ,किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार ;किसी के वास्ते तेरे दिल में हो प्यार ;जीना इसी का नाम है . .....!...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  April 29, 2012, 6:39 am
दोस्तों ,ये एक दिल में बसने वाला philosophical song है , और ये गाना सभी के साथ जोड़ा जा सकता है . किशोर की धनक भरी आवाज का जादू . आईये ये गाना पूरा सुने और दिल में कुछ कसमे खाए के बेहतर जीवन जीने के लिए .आपकाविजय ...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  April 13, 2012, 7:28 pm
रजनीगन्धा फूल तुम्हारे, महके यूं ही जीवन मेंयूं ही महके प्रीत पीया की मेरे अनुरागी मन मेंआधिकार ये जब से साजन का हर धड़कन पर माना मैंनेमै जब से उन के साथ बंधी, ये भेद तभी जाना मैंनेकितना सुख हैं बंधन मेंहर पल मेरी इन आखों में बस रहते हैं सपने उन केमन कहता हैं मैं रंगों की, ...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  April 12, 2012, 11:33 am
एक अकेला इस शहर में, रात में और दोपहर में आब\-ओ\-दाना ढूँढता है, आशियाना ढूँढता है दिन खाली खाली बर्तन है, और रात है जैसे अंधा कुँवा इन सूनी अन्धेरी आँखों में, आँसू की जगह आता हैं धुँ_आ जीने की वजह तो कोई नहीं, मरने का बहाना ढूँढता है एक अकेला इस शेहर में इन उम्र से लम्बी सड़को...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  April 11, 2012, 1:21 pm
चैन एक पल नहीं ,और कोई हल नहीं ...सयोनी.......!!!!...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  April 10, 2012, 11:11 am
बेताब दिल की तमन्ना यही है ..तुम्हे चाहेंगे ....तुम्हे अपना बनाएंगे ....बस यही तमन्ना थी .....अक्सर तमन्नाये बस तमन्नाये ही रह जाती है ......
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  April 6, 2012, 10:45 am
या दिल की सुनो दुनियावालो ; या मुझको अभी चुप रहने दो ...मैं गम को खुशी कैसे कह दूं . जो कहते है , उनको कहने दो... !!!मुझे ये गीत बहुत बहुत पसदं है , और अक्सर अकेले में खूब गाता हूँ . और अक्सर ही गाने के अंत में सिर्फ एक खामोशी रहती है और मेरी भीगी हुई आँखों में कुछ गमी के लम्हे !!!!...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  April 5, 2012, 1:39 pm
आज शहीद दिवस है। आज के दिन शहीदे आजम भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव ने हँसते-हँसते भारत की आजादी के लिए 23 मार्च 1931 को 7:23 बजे सायंकाल फाँसी का फंदा चूमा था।उन सभी क्रांतिकारियों को हमारा सलाम . ये अलग बात है कि ये देश उनके सपनो का भारत नहीं सिद्ध हुआ , लेकिन , इस बात से उनका बलिदान ...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  March 23, 2012, 8:39 pm
...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  March 23, 2012, 12:05 pm
...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  January 26, 2012, 6:56 am
दोस्तों , आप सभी को २६ जनवरी , हमारे प्रजातंत्र दिवस की ढेर सारी शुभकामनाये . ईश्वर करे कि , हमारा देश और हमारे देश के नागरिक हमेशा खुशहाल रहे . जय हिंद आपका विजय...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  January 26, 2012, 6:17 am
दोस्तों , आज मेरी माँ की बरसी है , उन्हें इस संसार से गए हुए २४ साल हो गए है ...लेकिन मैंने उन्हें हमेशा अपने पास ही पाया . मैं जो कुछ भी हूँ , उनकी वजह से हूँ . मुझमे मौजूद हर अच्छाई , उनकी ही है . मैं भी उनका ही हूँ . आज भी भीड़ भरी जिंदगी में उनके बिना अपना अकेलापन मन को बहुत सीलता ...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  January 13, 2012, 12:40 pm
...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  January 11, 2012, 6:54 am
My Dear Souls;Today I would like to suggest few tips on how to bury the past and move on:Understand that nothing is permanent in life.Things, people and relationships do change, and we should be ready to accept this fact.It takes huge time involvement and investment to understand people, so don’t rush into a serious relationship while the scars of the first one are still fresh Don’t spoil or throw away your own happiness and joy in life, because of the mistakes, faults and imperfections in others.Relationships collapse due to expectations and very often less realistic ones. so if you want to have a lasting relationship, have minimum expectationsDon’t remai...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  January 10, 2012, 11:36 am
Today is my birthday and birthdays are humble reminder to me that GOD exists and sometimes GOD exists in the form of mother. Today I miss my mother as she is no more to celebrate this very moment of existence of human soul. I miss her so much as she carried me in her womb for nine months. She felt sick for months with nausea, then she watched her feet swell & her skin stretch & tear; she struggled to climb stairs, she got breathless quick; she suffered many sleepless nights. She then went through excruciating pain to bring me into this world. Then, she became my nurse, my chef, my maid, my chauffeur, my biggest fan, my teacher, & my best friend. She's struggled for me, cried ...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  November 17, 2011, 4:46 pm
 दोस्तों ;आज मेरा जन्मदिन है .......अब उम्र के जिस पढाव पर मैं हूँ, वहां ज़िन्दगी बहुत शांत हो जाती है , ज़िन्दगी को देखने का नजरिया भी बहुत  बड़ा हो जाता है . बस बीता हुआ पिछला साल कई मायनों में ज्यादा खुशदायक नहीं था . लेकिन , हमेशा की तरह एक नयी उम्मीद के साथ ,आने वाले समय की प्...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  November 17, 2011, 12:07 pm
...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  February 14, 2011, 4:21 pm
मेरी अम्मा....ये सही है की , माँ ही ईश्वर का सच्चा स्वरुप होती है . आज ही के दिन , करीब २३ साल पहले ;माँ मुझे छोड़कर चली  गयी थी .लेकिन मैंने हमेशा ही उन्हें अपने करीब पाया , अपने साथ पाया . उनकी दी हुई नम्रता की शिक्षा ,उनका आशीर्वाद और जीवन को जीने की कला ,सबकुछ आज भी मेरे साथ है ...
VIJAY KUMAR SAPPATTI...
Tag :
  January 13, 2011, 9:07 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  You can create your ID by clicking on "Sign Up" (written at the top right side of the page) & login into bloggiri. After login, you will be ...
More...  

Hot List (1 Like = 2 Views)
  • 7 Days
  • 30 Days
  • All Time
Total Blogs Total Blogs (873) Total Posts Total Posts (43550)